तो ये है वो दरवाजा जिसे कहते है 'गेट ऑफ डेथ', यहां 10 लाख लोगों ने गंवाई थी जान, वजह जानकर रह जाओगे हैरान

ऑस्त्विज कैंप के बाहर ही एक बड़ा सा लोहे का दरवाजा है, जिसे ‘गेट ऑफ डेथ’ यानी ‘मौत का दरवाजा’ कहा जाता है. कहते हैं कि बड़ी संख्या में यहूदी लोगों को रेलगाड़ियों में भेड़-बकरियों की तरह लाद कर उसी दरवाजे से यातना शिविरों में ले जाया जाता था और उसके बाद उन्हें ऐसी-ऐसी यातनाएं दी जाती थीं, जिसकी आप कल्पना भी नहीं कर सकते हैं.


‘ऑस्त्विज कैंप’ एक ऐसी जगह था और उसे इस तरह बनाया गया था कि वहां से भाग पाना भी नामुमकिन था. कहते हैं कि कैंप के अंदर यहूदियों, राजनीतिक विरोधियों और समलैंगिकों से जबरन काम करवाया जाता था. 

इसके अलावा बूढ़े और बीमार लोगों को कैंप के अंदर बने गैस चेंबर में डालकर जिंदा जला दिया जाता था. कहते हैं कि ऐसे ही लाखों लोगों को इन गैस चेंबरों में डालकर मार भी दिया गया था.
close