24 गाँव पूरी तरह सील, 26000 लोगों को किया गया क्वारन्टाइन: एक अकेले ‘सुपर स्प्रेडर’ से संक्रमण का खतरा

गुरूद्वारे के ग्रन्थी, जो जर्मनी और इटली की यात्रा पर गए, संक्रमित होकर लौटे
पंजाब के 24 गाँवों के लगभग 26,000 लोगों को उनके घरों के भीतर क्वारन्टाइन किया गया है, क्योंकि संदेह है कि ये सभी उस 70 वर्षीय बलदेव सिंह नामक व्यक्ति के सम्पर्क में आए थे, जिनके नाम पंजाब के पहले कोरोना संक्रमण के चलते हुई मौत दर्ज है।

बलदेव सिंह नवांशहर जिले के पथलावा नामक गाँव में स्थित गुरूद्वारे में ग्रन्थी थे, जो एक धार्मिक समारोह में भाग लेने के लिए, पड़ोस के गाँव के रहने वाले अपने दो सहयोगियों के साथ, जर्मनी और इटली की यात्रा पर गए थे। सिंह 7 मार्च को कोरोना वायरस से संक्रमित होकर भारत वापस आए। इसके बाद 18 मार्च को उनकी बंगा स्थित सिविल हॉस्पिटल में कोरोना संक्रमण के चलते मौत हो गई।
close