दो महीने रहा लॉकडाउन तो सलमान करेंगे 25 हजार मजदूरों पर लगभग 50 करोड़ खर्च



सलमान खान ने इंडस्ट्री के 25 हज़ार दिहाड़ी मजदूरों को आर्थिक रूप से मदद करने का फैसला किया है। बताया जा रहा है कि सलमान मज़दूरों की ये मदद अपनी एनजीओ बीइंग ह्यूमन के जरिए करेंगे। उन्होंने इसके लिए फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्प्लॉइज (FWICE) को फोन कर 25000 दिहाड़ी मजदूरों के बैंक अकाउंट्स की डिटेल्स मांगी है।
Third party image reference
खबरों के मुताबिक, FWICE के जनरल सेक्रेटरी अशोक दुबे ने बताया, “सलमान खान फिल्म्स की सीईओ शमीरा नाम्बियार ने चंद दिनों पहले दिहाड़ी मजदूरों की मदद को लेकर फेडरेशन को फोन किया था मैंने उन्हें बताया कि यूं तो फेडरेशन कर साथ विभिन्न विधाओं से संबंधित पांच लाख वर्कर जुड़े हुए हैं, मगर दिहाड़ी मजदूरों की संख्या तकरीबन 25000 है। इसके बाद हमें तीन दिन बाद फिर से फोन आया और उन्होंने 25000 दिहाड़ी मज़दूरों के बैंक खातों को लेकर जानकारी मांगी, जो हमने उन्हें भेज दी है।”
संबंधित खबर : कोरोना से सैकड़ों मौतों और लॉकडाउन से अर्थव्यवस्था के नुकसान से आहत जर्मन वित्तमंत्री ने की खुदकुशी दुबे से जब इस मदद में खर्च किए जाने वाले पैसों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उनको इस बारे में नहीं पता। हालांकि मोटे तौर पर देखा जाए तो एक मज़दूर पर खाने – पीने और रहने का खर्च एक महीने में तकरीबन 10 हज़ार रुपए आता है। इस हिसाब से 25 हज़ार मज़दूरों की मदद में एक महीने में तकरीबन 25 करोड़ रुपए ख़र्च होंगे मौजूदा हालात को देखते हुए लॉकडाउन को और बढ़ाए जाने की आशंका है। इस हिसाब से अगर दो महीने फिल्म इंडस्ट्री में शूटिंग बंद रही तो सलमान खान को दिहाड़ी मजदूरों की मदद के लिए तकरीबन 50 करोड़ रुपए ख़र्च करने होंगे। जो अभी तक किसी भी स्टार की ओर से की मदद की राशि से कहीं अधिक होगी।

close