बेटी के विवाह से ठीक एक दिन पहले माता-पिता ने लिए सात फेरे, 25 साल तक लिव इन में रहे..

ठीक 25 साल पहले समाज से लड़ते हुए लिव इन रिलेशनशिप में रहे, मगर अब जाकर उन्हें शादी करनी पड़ी। इतना ही नहीं, दोनों अभी भी शादी सिर्फ मजबूरी में यानि अपनी बेटी के लिए करने के लिए राजी हुए। मतलब साफ है कि 25 साल के बाद अपनी बेटी के लिए अपने वसूलों को उन्हें बदलना पड़ा, मगर यहां तक पहुंचने के लिए कहानी में कई तरह के ट्विस्ट देखने को मिला। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस लेख में आपके लिए क्या खास है?

मध्यप्रदेश के अशोकनगर में शुक्रवार को 55 साल के पिता ने बेटी का कन्यादान करने के लिए ठीक एक दिन पहले अपनी पार्टनर से शादी की। इस जोड़े का नाम परमाल सिंह लोधी तथा सुनीता बाई लोधी है। परमाल सिंह ने अपनी लिव इन पार्टनर से बेटी की शादी से ठीक पहले ही सात फेरे ले लिये, ताकि अपनी बेटी का कन्यादान कर सके। जी हां, बेटी का कन्यादान रीति रिवाज से कर सकें, इसीलिए इस जोड़े ने शादी करने का निर्णय ले लिया।

बेटी का कन्यादान करने के लिए माता-पिता ने की शादी


मध्यप्रदेश के अशोकनगर के परमाल सिंह और सुनीता ने बेटी का कन्यादान करने के लिए पहले स्वयं शादी की, जिसके बाद अपनी बेटी का कन्यादान करेंगे। दरअसल, दोनों ही बिना शादी के ही लिव इन में रहते थे, जिसकी वजह से उनके पास चार बच्चे हैं। बेटी बड़ी है, तो वहीं बेटा छोटा है, मगर बेटी का कन्यादान करने के लिए माता पिता को शादी के बंधन में बंधना पड़ा, जिसकी वजह से 50 साल के परमाल ने 50 साल की सुनीता से शादी की।
close