आखिर किस उद्देश्‍य से रांची की मस्जिदों में छिपे थे 30 विदेशी मौलवी, जांच एजेंसियों के कान खड़े; बड़ी साजिश का शक, जांच में जुटी एजेंसियों

एनआइए, इंटेलिजेंस ब्यूरो सहित अन्य खुफिया एजेंसियां इनके मंसूबों का पता लगा रही है। गोपनीय तरीके से अनुसंधान जारी है। विदेशियों को संरक्षण देने वालों की भी जांच एजेंसियां जानकारी जुटा रही हैं। रांची जिले के विदशी शाखा में सबसे ज्यादा आवेदन व सूचनाएं मिशनरीज संस्थाओं के पड़े हैं। 

यहां विदेश से आने वाले हर एक नागरिक चाहे वह किसी देश का हो, उसकी सूचना पड़ी मिल जाएगी। जब उनकी सूचना रांची पुलिस की विदेशी शाखा में पड़ी मिल सकती है तो फिर विदेशी नागरिक की सूचना क्यों नहीं। झारखंड पुलिस मुख्यालय भी इस संबंध में कुछ भी बोलने से बच रहा है।   
close