परिवार से किया वादा निभा नहीं पाए मेजर केतन शर्मा, 3 साल की बेटी अब भी कर रही है पिता की प्रतीक्षा


बता दें कि केतन शर्मा महज 29 वर्ष के थे और मेरठ के रहने वाले थे। कुछ दिन पहले ही वो छुट्टी से वापस ड्यूटी पर लौटे थे और अपने परिवार से वादा करके आए थे कि वो जल्द ही घर वापस आएंगे। मगर केतन का देश को किया वादा तो वो पूरा कर गए लेकिन अपने घर वालों से किया वादा वो पूरा नहीं कर सके। आतंकियो से मुठभेड़ में केतन शर्मा ने अपनी जान गवां दी। मंगलवार के दिन उनका पार्थिव शरीर दिल्ली लाया गया, जहां पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। इस दौरान उनके साथ सेना प्रमुख बिपिन रावत भी उपस्थित रहे।

बता दें कि सोमवार को भारतीय सेना को अनंतनाग के एकिंगम में आतंकियों के छिपे होने की खबर मिली थी। जिसके पश्चात सुरक्षाबलों ने सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया था आतंकियों के ठिकाने पर पहुंचते ही दोनों ओर से फायरिंग शुरू हो गई और मेजर केतन शर्मा शहीद हो गए। परिवार वालों को जैसे ही उनकी शहादत की खबर मिली पूरा परिवार शोक में डूब गया।

पांच साल पहले हुई थी शादी


बता दें कि केतन शर्मा की शादी को महज 5 साल हुए थे। उनके परिवार में माता-पिता के अतिरिक्त उनकी पत्नी और 3 साल की बेटी काइरा है। पिता, पति और बेटे के खोने के बाद से परिवार का रो-रोकर बुरा हाल है। हालांकि केतन की बेटी काइरा को अभी इस बात का इल्म तक नहीं है कि उसके पिता उसको हमेशा के लिए छोड़ कर चले गए हैं। बता दें कि वर्ष 2012 में ही केतन IMA देहरादून से सेना में लेफ्टिनेंट बने थे, जिसके बाद उनकी पहली पोस्टिंग पुणे में हुई थी। दो साल पहले ही केतन को अनंतनाग भेजा गया था।
close