कोरोना वायरस के खिलाफ सीएम योगी के इन 4 कामों की हो रही है जमकर तारीफ, नंबर 2 को जानकर रह जाओगे दंग

1,000 करोड़ का कोविड केयर फंड बनाना

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना से निपटने के लिए विशेष कोविड केयर फंड की स्थापना की है। इस फंड का आकार 1000 करोड़ रुपये है। कोविड केयर फंड का ऐलान करते हुए सीएम योगी ने कहा था कि कोविड के खिलाफ लड़ाई लंबी चलेगी और इस फंड का उपयोग राज्य के मेडिकल कॉलेजों में टेस्टिंग लैब की संख्या बढ़ाने, क्वारंटाइन वॉर्ड, आइसोलेशन वॉर्ड, वेंटिलेटर की व्यवस्था करने के साथ एन-95 मास्क, पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट (पीपीई) और सैनिटाइजर बनाने के कामों में किया जाएगा।

​दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों के रहने-खाने का इंतजाम

देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश के कई शहरों से लोग दूसरे राज्यों में काम के लिए जाकर बसे हैं। कोरोना वायरस की वजह से हुए लॉकडाउन के चलते कई मजदूर और कर्मचारी फंसे हुए हैं। ज्यादातर लोग वापस अपने घर लौटना चाहते हैं, लेकिन कई राज्यों ने अपने बॉर्डर सील कर दिए हैं। ऐसे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दूसरे राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात की और उनसे वहां ठहरे यूपी के लोगों के रहने और खाने-पीने की व्यवस्था करने को कहा। योगी ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों से कहा कि इसमें आने वाला पूरा खर्च यूपी सरकार उठाएगी।

प्रशासन के कसे पेच, अधिकारियों को दी कड़ी नसीहत

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई की सबसे अहम धुरी प्रशासनिक अधिकारियों को सबसे पहले नसीहत दी और साफ किया कि किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इसका उदाहरण उन्होंने नोएडा के डीएम को रातोंरात हटाकर दिया, जहां से पूरे प्रदेश में कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा मामले सामने आए। मुख्यमंत्री ने कोरोना प्रभावित जिलों में कंट्रोल रूम स्थापित करने के निर्देश दिए थे, मगर नोएडा में कोरोना के इतने विकराल रूप लेने के बाद भी तत्कालीन डीएम बीएन सिंह ने कंट्रोल रूम स्थापित करने की जरूरत नहीं समझी। मुख्यमंत्री ने नोएडा दौरे पर उन्हें जमकर फटकार लगाई और अगले ही दिन उन्हें ट्रांसफर कर राजस्व परिषद से अटैच कर दिया। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने लॉकडाउन को सफल बनाने के लिए डीएम-एसपी की जवाबदेही तय की और साफ किया कि 14 अप्रैल तक जिलों और राज्यों के बॉर्डर सील कर दिए जाएं।

​कोरोना के खिलाफ लड़ाई में खुद उतरे जमीन पर

कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई की कमान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खुद अपने हाथों में किस तरह संभाल रखी है, इसका अंदाजा इससे लगा सकते हैं कि उन्होंने प्रदेश के रेड जोन नोएडा खुद जाकर व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। इसके अलावा नियमित बैठकों और मॉनिटरिंग के बीच सीएम योगी आदित्यनाथ बीते रविवार को भी राजधानी की सड़कों पर निकले। सीएम योगी खुद आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे के मोहान रोड स्थित टोल प्लाजा पहुंचे और वहां मौजूद यात्रियों की सुविधाओं का जायजा लिया। सीएम ने यात्रियों से बातचीत कर उनसे भोजन और निवास के बारे में पूछा और वहां मौजूद अधिकारियों को मुकम्मल व्यवस्था के निर्देश दिए।
close