कोरोना के समय इस महिला पुलिस ने पति से कहा, "आप घर में लड़ाई जीतो, मैं बाहर की लड़ाई जीत कर आती हूं" और फिर 6 महीने के कलेजे के टुकड़े..

हिंदी रश से बात करते हुए महिला पुलिस शैला गव्हाणे के पति अमोल गव्हाणे (Amol Gavhane) ने कहा कि कोरोना के वजह से 24 घंटा पुलिस को तैनात रहना पड़ता है। मेरी पत्नी की अभी नाईट शिफ्ट शुरू है। 

एक रोज जब वह घर तो फ्रेश होने के बाद, हम बात करने लगे। बात करते करते हमारे बेटे वीर की बात निकली तो वो भावुक हो गई। जब मैंने उससे पुछा तो कहा कि मेरा पैर दुखने लगा है। लेकिन उसके चेहरे को देखकर समझ गया।”

“हमारा एक छोटा बेटा है। उसे लॉकडाउन होने के पहले ही गांव भेज दिया है। मैं कोपरखैरणे ने में एक प्राइवेट ऑफिस में सुपरवाइजर हूं, मेरी पत्नी पुलिस है मुझे इस बात का गर्व है। लेकिन ऐसे माहौल में जब वह घर से बाहर होती है तो मुझे थोड़ा डर लगा रहता है। मुश्किल से उसके ड्यूटी समय में हमारी सिर्फ 2-3 बार बात होती है। फिर भी मैं अपना फ़ोन मेरे पास ही रखता हूं।, अमोल ने कहा।

close