अनोखी प्रेम कहानी: सेकंड वर्ल्ड वार में हुआ था प्रेम, बिछड़ने के 75 वर्ष बाद दुबारा मिले

एक ऐसी लव स्टोरी जिसे सुनने के पश्चात आपको लगेगा अरे ये तो किसी हिट फिल्म की कहानी लगती हैं। लेकिन यकीन मानिए ये एक सच्ची घटना हैं। कहते हैं इश्क कभी मरता नहीं हैं। वो सालों साल जीवित रहता हैं। फिर जब प्यार सच्चा हो और आप किसी को दिल से चाहे तो पूरी कायनात आप दोनों को मिलाने में लग जाती हैं। ऐसा ही कुछ के. टी. रॉबिंस मेहज और जीनिन गनेय पियर्सन के केस में भी हुआ। इन दोनों की पहली मुलाकात द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान हुई थी  उस वक्त रॉबिंस एक अमेरिकन सैनिक थे जिनकी पोस्टिंग फ़्रांस के एक छोटे से गाँव में हुई थी। इस दौरान वे 24 वर्ष के थे। इसी गाँव में 18 साल की जिनिन भी रहती थी जिनसे रॉबिन्स को पहली नज़र में ही प्यार हो गया था।

हुआ ये था कि रॉबिन्स अपने कपड़े धोने के लिए किसी की तलाश कर रहे थे, फिर इस काम के लिए उन्हें जिनिन की मम्मी मिल गई। ऐसे में रॉबिन्स तथा जिनिन की मुलाकातें बढ़ने लगी और दोनों में प्यार हो गया। दोनों ने साथ जीने और मरने की कसमें भी खाई, मगर फिर अचानक दोनों की जिंदगी में एक बड़ा मोड़ आ गया।

युद्ध की शुरुआत हो जाने के कारण रॉबिंस को ईस्टर्न फ्रंट पर जाना पड़ा। जाने से पहले रॉबिंस के पहले रॉबिन्स ने जिनिन से कहा कि वे उन्हें लेने वापस अवश्य आएँगे। हालांकि ऐसा हो ना सका। जब 1945 में युद्ध समाप्त हुआ तो जिनिन ने रॉबिन्स के वापस लौटने का इंतज़ार भी किया लेकिन वे अमेरिका लौट गए थे।

बाद में रॉबिन्स ने अमेरिका में लिलियन नाम की एक महिला से शादी कर ली। फिर 2015 में 92 वर्ष की उम्र में उनकी पत्नी गुजर गई। इधर जिनिन ने भी 1949 में शादी कर परिवार बसा लिया था। हालाँकि इस सबके बावजूद रॉबिन्स जिनिन को दिल से निकाल नहीं पाए। आपको जानकर हैरानी होगी कि रॉबिन्स ने 75 सालों तक जिनिन की एक पुरानी ब्लैक एंड वाइट तस्वीर अपने पास रखी हुई थी। ऐसे में जब उन्होंने फ़्रांस की एक टीवी को इंटरव्यू दिया तो अपनी अधूरी प्रेम कहानी सुनाई। साथ ही उन्होंने मीडिया को कहा कि वे जिनिन को आज भी चाहते हैं इसलिए अगर वे जिनिन को ढूँढने में उनकी मदद कर सके तो बहुत अच्छा होगा। इसके बाद एक पत्रकार ने कुछ दिनों बाद जिनिन और उसके परिवार को एक गाँव में ढूंढ निकाला। बस फिर क्या था दोनों ने 75 सालों बाद दुबारा एक दुसरे से मिलने का प्लान बना लिया।
close