कोरोना ने बनाया मछलियों का कब्रिस्तान, हालात देख आंखें फटी की फटी रह जाएंगी

कोरोना वायरस ने जहां पूरी दुनिया की अर्थ व्यवस्था को अर्श से फर्श पर ला दिया है वहीं मछली उद्योग को भी भुखमरी की कगार पर ला दिया है। मछुआरों को लाखों रुपये कीमत की मछलियों की गडढा खोदकर दबा देना पड़ा। हालांकि अभी तक कोई ऐसी रिसर्च नहीं आई है जिससे प्रमाणित होता हो कि मछली से कोरोना का संक्रमण होता है।
ऐसा ही एक मामला हिमाचल प्रदेश से सामने आया है जहां भाखड़ा डैम और गोविंद सागर झील में पैदा होने वाली लाखों रुपये की मछलियों को कोरोना वायरस के चलते गड्ढा खोदकर दफना देना पड़ा। मछुआरों के लिए यह एक सजा है जो कि उन्हें खून के आँसू रुला रही है।
close