पेरिस की इस लड़की को सात साल पहले हुआ भारतीय लड़के से हुआ था प्यार, आज ऐसी जी रही है जिन्दगी

वैसे तो आजतक आपने बहुत सी प्रेम कहानियां सुनी होंगी, लेकिन आज हम आपको जो कहानी सुनाने जा रहे हैं वो दरअसल कोई कहानी नहीं है बल्कि एक सच्ची गाथा है।प्यार को सीमाएं नहीं रोक सकतीं चाहें वो भारत-फ्रांस की ही क्यों ना हो। हुआ भी ऐसा ही है। दरअसल सात साल पहले फ्रांस के पेरिस में रहने वाली मारी इंडिया घूमने आई थी। इस दौरान 33 साल की मारी अपने ही टूरिस्ट गाइड को दिल दे बैठी।
जानकारी के मुताबिक यह विदेशी महिला एमपी के मांडू में अपना गुजर -बसर कर रही है।मारी आज पूरी तरह इंडियन कल्चर में रंग चुकी हैं। हिंदी न जानने वाली यह विदेशी महिला टूटी-फूटी हिंदी बोलती है। मारी पूरी तरह से देसी रंग में ढल गई हैं और अब ज्यादातर वो सलवार सूट या साड़ी ही पहनती हैं. कोई त्योहार या पूजा के दौरान उन्हें साड़ी पहनना ही अच्छा लगता है. मारी ने बताया कि भारतीय ट्रेंड के हिसाब से साड़ी को पहनकर उन्हें अंदर से बहुत अच्छा लगता है और उनके बच्चे भी बाकी बच्चों के साथ पारंपरिक खेल खेलते हैं. वो अपने पति और बच्चों के खाने का खास ख्याल रखती हैं |

 कौन हैं मारी

मारी फ्रांस के पेरिस शहर की रहने वाली हैं और पेशे से टीचर हैं। उनके पिता डॉक्टर और मां टीचर हैं। टीचर मारी आज भी फ्रांस के बच्चों को ऑनलाइन के जरिए पढ़ाती हैं। जरूरत पड़ने पर वे बच्चों को नोट्स भी बनाकर भेजती हैं। धीरज से शादी के बाद मांडू में रह रही यह विदेशी महिला के अब दो बच्चों की मां बन चुकी हैं। बड़ा बेटा काशी पांच साल का तो दूसरा 3 साल का है। दोनों का जन्म अलग- अलग राज्यों में हुआ है।

आशियाने के लिए मजदूरों के साथ करती हैं काम

मारी इस वक्त मांडू में अपने आशियाने को बनाने की तैयारी कर रही हैं।वह सुबह से शाम अपने पति के साथ मकान बनवाने का काम खड़े रहकर कराती हैं। यही नहीं जरूरत पड़ने पर वह खुद मजदूरों के साथ काम करती हैं।
close