उजाले के सन्नाटे पर पानी फेरता अंधेरे का मेला, हजारों की भीड़ रोज दे रही मौत को दावत

उत्तर प्रदेश के हरदोई जिला मुख्यालय से चारों तरफ लगभग 35 किलोमीटर की दूरी तक वाले इलाकों में होने वाली सब्जी की खेती की खपत जिला मुख्यालय की सब्जी मंडी में होती है। टड़ियावां, बालामऊ, बघौली, पिहानी, गोपामऊ आदि स्थानों से सब्जी बेचने के लिए लोग आधी रात में घरों से निकलते हैं और दो बजते-बजते सब्जी मंडी पहुंच जाते हैं। सब्जी मंडी में व्यापारियों से लेकर किसानों तक की भीड़ उमड़ती है और इस भीड़ के बीच सोशल डिस्टेंसिंग जैसा कुछ भी नजर नहीं आता।


आधी रात के बाद एक बजे से व्यापारियों का पहुंचना सब्जी मंडी में शुरू हो जाता है और दो बजे से किसान भी बड़ी संख्या में मंडी आ जाते हैं। इसके अलावा फुटकर में सब्जी बेचने वाले दुकानदारों की भीड़ भी मंडी में पहुंचना शुरू हो जाती है। इस पूरे व्यापार के दौरान सोशल डिस्टेसिंग का ख्याल कहीं नहीं रखा जाता। क्या दुकानदार, क्या व्यापारी और क्या किसान, होड़ में एहतियात बरतना बिल्कुल भूल जाते हैं। तड़के तीन बजे मंडी के हालात देखकर लगता है कि शायद इन लोगों को यह गलतफहमी है कि रात में संक्रमण का खतरा नहीं है।
close