इसमें इस मासूम बच्चे का क्या दोष, दुनिया में आते ही कुछ देर बाद कोरोना के चपेट में आया मासूम, कोरोना ने ऐसा मचा रखा है आतंक

नवजात बच्चे की माँ न्यूमोनिया की शिकायत लेकर बच्चे को हॉस्पिटल लेकर पहुँची थी। लेकिन जाँच में पता चला की बच्चा कोरोना वायरस से संक्रमित है।

जिसके बाद डॉक्टर यह पता लगाने में जुटे हुए है की बच्चा पैदा होने के बाद कोरोना वायरस से संक्रमित हुआ है की मां के गर्भ में भी संक्रमित हो चुका था। वही नवजात बच्चे और मां का अलग-अलग अस्पताल में इलाज चल रहा है।

वही बच्चे और मां की देख-रेख कर रहे स्टॉफ को भी सेल्फ आइसोलेट रहने की सलाह दी गई है। वही स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी अब यह पता लगाने में जुटे है की किन परिस्थितियों में कोरोना वायरस का संक्रमण हुआ है। वही संक्रमण के बावजूद बच्चे को मां का दूध देने की सलाह दी गयी है।

रॉयल कॉलेज ऑफ ऑब्स्टीट्रीशियन्स एंड गाइनोकोलोजिस्ट की तरफ से बच्चे को मां से अलग नहीं किये जाने की सलाह दी गई है। उनका कहना है की बच्चे को उसकी मां का दूध मिलना बेहद जरूरी है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों कहना है की बच्चा और मां में कोरोना वायरस के हल्के लक्षण देखे गए है।
close