भूखा प्यासा केरल से चलकर पश्चिम बंगाल की ओर जाते हुए चमकी एक मुस्लिम मजदूर की किस्मत, रास्ते में ही बन गया करोड़पति, एक कॉल ने बदली जिन्दगी

 कोरोना के बढ़ते के चलते इजारुल वापस गांव आ गए। एक हफ्ते खाली रहकर उसे रोजगार की चिंता सताने लगी। उसके घर में पत्नी, तीन बच्चों के अलावा मां और पिता हैं। परिवार के भरण-पोषण की जिम्मेदारी इजारुल के उपर ही है। इजारुल के पिता रिक्शा चालक हैं और घर में कोई कमाने वाला भी नहीं था। ऐसे में रविवार को उन्हें पता चला कि उनकी 1 करोड़ रुपए की लॉटरी लग गई है।

इजारुल ने कहा कि कोरोना को लेकर अफरातफरी के बीच ही उन्होंने लॉटरी की टिकट खरीदा था। उन्हें याद ही नहीं रहा था अब वो बहुत खुश हैं। इजारुल के करोड़पति बनने की खबर पूरे इलाके में वायरल हो चुकी है। लोग इजारुल को बधाई देने उनके घर पहुंच रहे हैं। ऐसे में इजारुल ने पुलिस अधिकारियों से सुरक्षा की गुहार भी लगाई है।

इजारुल ने कहा कि, वो इस रकम से अब नया कारोबार शुरू करेंगे। इसके अलावा वो नया घर भी बनवाएंगे ताकि उनके परिवार को आने वाले समय में किसी तरह की परेशानी का सामना ना करना पड़े।
close