कोरोना को मात देते ही कनिका कपूर का बदला व्यवहार, घर जाते हुए सबको कहा मुश्किल घड़ी में मेरा साथ देने के लिए धन्यवाद

वह एक दिन घर में रहने के बाद दो दिन होटल में रहीं। इस दौरान 18 मार्च को उनकी तबीयत खराब हो गई। 19 को सैंपल लेकर जांच कराई गई। उनके संक्रमित पाए जाने पर 20 मार्च को पीजीआई के कोरोना वार्ड में भर्ती किया गया। शुक्रवार और रविवार को कराई गई जांच रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद सोमवार को डिस्चार्ज कर दिया। पीजीआई की मीडिया सेल की कुसुम यादव ने बताया कि कनिका को सोमवार सुबह डिस्चार्ज कर दिया गया है। उन्हें एंबुलेंस से घर भेजा गया है। पीजीआई के कोरोना वार्ड में भर्ती रहने के दौरान कनिका कपूर का व्यवहार वहां के कर्मचारियों के प्रति ठीक नहीं था। 


पीजीआई के निदेशक प्रो. आरके धीमान ने खुद कहा था कि वह स्टाफ के साथ व्यवहार ठीक नहीं रख रही हैं। वीवीआईपी फरमाइश कर रही हैं। हालांकि डिस्चार्ज होते वक्त कनिका कपूर ने चिकित्सकों एवं चिकित्साकर्मियों के प्रति आभार जताया। सूत्रों का कहना है कि वार्ड से बाहर जाते वक्त उन्होंने सभी को थैंक्स कहा। इसके बाद हाथ हिलाकर सभी का अभिवादन किया। डॉक्टरों से कहा कि उन्हें किसी तरह की दिक्कत होगी तो वह कॉल करेंगी। इसके लिए उन्होंने एक चिकित्सक का मोबाइल नंबर भी लिया है।
close