पति को नींद में सुलाकर पत्नी घर बुलाती थी लड़के, उनके साथ बनाती थी संबंध, और फिर एक दिन चारपाई पर

कुछ ही दिनों के बाद युवती से परेशान होकर उसके पति ने उसे घर से निकाल दिया। लेकिन मायके पहुंचने के बाद भी युवती ने अपना गंदा खेल जारी रखा। युवती अपने पिता के खाने में नशीला पदार्थ मिलाकर उन्हें बेहोश कर देती और फिर लड़कों से अवैध संबंध बनाती थी। इस बीच एक बार युवती के पिता ने उसे लड़कों के साथ रंगे हाथों पकड़ लिया और फिर जमकर पिटाई भी की। 
जिसके बाद युवती पति से माफी मांगकर वापस अपने ससुराल चली गई। लेकिन जब उसके पति ने उसे दोबारा पकड़ा, तब एक दिन उसने पति को नशीला पदार्थ खिलाकर बेहोश कर दिया और चारपाई से बांधकर उसकी हत्या कर दी। यह पूरा मामला कोतवाली मल्लावां इलाके का है। यहां के रहने वाले आशिक हुसैन की शादी 2014 में नूरी नाम की युवती के साथ हुई थी। शादी के कुछ ही दिनों के बाद आशिक हुसैन ने पत्नी नूरी के घर में शिकायत करके उसको घर से निकाल दिया। 15 साल तक नूरी, पति से दूर अपने मायके में रही। जब पिता ने भी उसे रंगे हाथों पकड़ लिया तो पति से माफी मांगकर वह वापस अपने ससुराल आ गई। लेकिन यहां वापस आकर भी उसने अपनी हरकतें जारी रखी।
बेहोशी की हालत में नूरी ने पति को चारपाई से बांधकर ईंट से कूंचकर उसकी हत्या कर दी और इस कत्ल को छिपाया। हत्या को दुर्घटना दिखाने के लिये नूरी ने उस चारपाई के हिस्से को काटकर छिपा दिया और जहां पर मृतक का खून गिरा था। फिर मिट्टी खोदकर हटा दिया, लेकिन इस वाकए की चश्मदीद गवाह नूरी की 15 साल की बेटी ने सारा राज खोल दिया। नूरी की बेटी ने बताया कि उसकी मां मोहल्ले के लड़कों को घर बुलाकर उनसे अवैध संबंधों बनाती थी। बेटी ने बताया कि उसकी मां उसके नाना के खाने में कुछ मिलाकर उन्हें बेहोश कर देती थी और फिर मोहल्ले के लड़कों को घर बुलाकर उनके साथ गलत काम करती थी। एक दिन नाना ने उसकी मां को रंगे हाथों पकड़ लिया तो उनकी पिटाई कर दी। इसके बाद नूरी दोबारा पापा के घर चली गई। बेटी के बयान के बाद पुलिस ने नूरी को कस्टडी में ले लिया तो उसने भी अपना गुनाह कुबूल कर लिया है।
close