सूर्यपुत्र शनि की पूजा में की गई एक गलती, पड़ सकती है भारी, जानिए क्या बरतें सावधानियां


दरअसल, शास्त्रों में शनि देव की पूजा के कुछ नियम बताए गए हैं, अगर आप इन नियमों के साथ शनिदेव की पूजा अर्चना करते हैं तो इससे शनिदेव आपसे बहुत ही जल्दी प्रसन्न होंगे और आपके जीवन के सभी दुख दूर करेंगे, आज हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से शनि की पूजा में किन किन बातों का ध्यान रखना जरूरी है? इसके बारे में जानकारी देने वाले हैं।

सूर्यपुत्र शनि की पूजा में इन बातों का रखें ध्यान


यदि आप शनि महाराज की पूजा अर्चना कर रहे हैं तो सबसे पहले आपको इस बात का विशेष ध्यान देना होगा कि आप कौन सी दिशा में इनकी पूजा कर रहे हैं? क्योंकि शनि की पूजा में दिशा का विशेष महत्व माना गया है, शनि को पश्चिम दिशा का स्वामी माना जाता है, इसलिए आप इनकी पूजा करने के दौरान अपना मुख पश्चिम दिशा की ओर रखें। अगर आप शनिदेव की पूजा में इनको भोग अर्पित कर रहे हैं तो आप हमेशा काले तिल तथा खिचड़ी का ही भोग लगाएं, अगर आप शनि महाराज को काला तिल अर्पित करते हैं तो इससे कुंडली में मौजूद ग्रहों के अशुभ प्रभाव दूर होते हैं।
close