भाई बहन ने मंदिर में किया शादी, बोली "भाई के बच्चे की मां बनने वाली हूं" और गले में माला डाल ले लिए सैट फेरे

घर से भागने की जानकारी जब लड़की के पिता को हुई तो नजदीकी थाने में ही जाकर बच्ची के अपहरण होने का मामला दर्ज करवाया। मामला दर्ज कर जांच कर रही पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी शुरू ही की थी कि दोनों शादी कर थाने पहुंचे। मामले का खुलासा तब हुआ जब लड़की ने थाने पहुंचकर आत्मसमर्पण किया क्योंकि लड़की के पिता ने इससे पहले लड़की के अपहरण हो जाने का मामला थाने में दर्ज कराया था।
पुलिस थाने पहुंचकर लड़की ने कहा अब ये मेरा भाई नहीं पति है। लड़की के जुबान से इस तरह की बात सुनने के बाद पुलिस वाले सर पकड़कर बैठ गए। वहीं थाने पर मौजूद ग्रामीणों ने इस रिश्ते को कलंकित करार देते हुए कानूनी कार्रवाई की भी मांग किया। पुलिस के सामने बयान देते हुए लड़की ने कहा है कि हम दोनों के बीच प्यार का ये सिलसिला पिछले कई वर्षों से चल रहा था। इसी दौरान मुझे ये पता चला कि मैं इसके बच्चे की मां बनने वाली हूं। इस रिश्ते के सामने आने के बाद ना तो हमारे घर वाले हमें एक होने देते ना लड़के के।
इसीलिए हम दोनों ने घर से भागकर शादी रचाने का फैसला किया था। घर से भागकर हमने शहर के मंदिर में जाकर भगवान को साक्षी मान शादी कर ली। लड़की के बयान सुनने के बाद उसे न्यायालय के समक्ष पेश किया गया वहीं लड़की के भाई, प्रेमी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। मामले की जानकारी देते हुए महिला थानाअध्यक्ष ने बताया कि लड़की के पिता द्वारा लड़की के अपहरण हो जाने का मामला दर्ज कराया। पुलिस पदाधिकारी द्वारा मामले की जांच पड़ताल की जा रही थी कि लड़की खुद थाने पहुंची और मामले में नया मोड़ ला दिया।
close